ATM Card का Pin 4 अंको का क्यों होता है

736

आपके पास ATM है, है ना? और उस पिन को एक्सेस करने के लिए एक चार अंक का पिन होता है | क्या आपने कभी ऐसा सोचा  है कि ATM Pin  केवल चार अंक लंबा क्यों है? हम इस प्रश्न का उत्तर देने की कोशिश करेंगे कि आपका पैसा चार अंकों वाले पिन के साथ कितना सुरक्षित है |

ATM से लोगो की जिन्दगी आसान हो गया है | यह बैंकिंग के इतिहास का सबसे सफल खोज है | पहले ATM की शुरुवात जॉन एड्रिअन शेफर्ड बैरन ने 1969 में किया था | उनका जन्म भारत के शिल्लोंग शहर में हुवा था | वे स्कॉटलैंड के निवासी है | ATM  का उपयोग करने के लिए आपको ATM Pin  नामक चार अंकों का प्रवेश कोड दर्ज करना परता है और हम यह पता लगाने की कोशिश करेंगे कि यह कितनी सुरक्षित है |

ATM Card का Pin 4 अंको का ही क्यूँ होता है 

जॉन एड्रियन शेफर्ड बैरोन ने एटीएम पिन के लिए छह अंकों की संख्या को पसंद किया था  क्योंकि वह आसानी से अपने छह आंकड़े वाला सेना संख्या को याद कर सकता था |

लेकिन जब उन्होंने अपनी पत्नी कैरोलिन पर इसका प्रयोग करने की कोशिश की, तो उनकी पत्नी जो सबसे लम्बा अंक याद रख सकती थी वो था 4 अंको का | तब उन्होंने 4 अंको का ATM Pin रखने का फैसला किया |

इसके पीछे कारण  यह था कि औसतम  मानव का दिमाग  6 अंकों की तुलना में 4 अंको की संख्या को आसानी से  याद रख सकता है |

4 अंको का ATM Pin कितना सुरक्षित है ? 

4 अंको का ATM Pin 0000 से 9999 तक हो सकता है जिसमे 10000 अलग अलग Pin रखा जा सकता है | अगर हम सूत्रों की माने तो 20% Pin हैकिंग के चपेटे में आ सकता है |

सबसे सामान्य ATM Pin 1234 और 1111 है |

स्विट्ज़रलैंड और कुछ अन्य देश 6 अंको के Pin का इस्तेमाल करते है |

हलाकि 4 अंको का Pin भी इतनी आसानी से हैक नहीं किया जा सकता लेकिन यह 6 अंको के Pin से कम सुरक्षित है |

हम उम्मीद करते है की आपको समझ आ गया होगा की क्यूँ ATM Pin 4 अंको का होता है |

तो दोस्तों अगर ये Post अच्छा लगा तो अपने दोस्तों के साथ भी Share करे | और अगर आप हमसे इस बारे में कुछ भी पूछना चाहते है तो निचे Comment Box में पूछ सकते है | और हमारे इस Blog के Notification को Subscribe कर ले ताकि हमारा लेटेस्ट Post आपको जल्द से जल्द मिल जाए |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here